अब मैं खुद से थक चुका हूँ पापा

ये शहर अब मुझे रास नही आ रहा हैतेरा बेटा तेरे पास आ रहा है, पापा अब मैं खुद से थक चुका हूं पापा।इस दिखावे की दुनिया सेपरत दर परत वाले इन खूबसूरत चेहरों से।अब मैंने सिसकियां लेना भी छोड़ दिया है।हां मैंने सोचना भी कम कर दिया है लेकिन मैं आज भी सोचता हूं आपकी खुशियों के बारे मेंमम्मी […]

अब कभी लौटकर न आऊंगा

सुनोबहुत थक सी चुकी थी न तुम मेरे हर सवालों से?प्यार, वक़्त की भीख मांगता था।तुम्हें पाने के लिए तुमसे ही लड़ा करता था।पर ठहर सा चुका हूं तुम्हें पाने की जिद्द मेंअब लाख रोऊंगा, खुद को मनाऊंगा लेकिन तुम्हारे सामने नहीं गिड़गिड़ाऊंगा,बन गई थी तुम मेरी कमजोरी, अब मैं उसी को अपनी ताकत बनाऊंगाबिखकरकर कैसे समेटते हैं ख़ुद को […]

गुलाब डे

मैं चाहता हूँ आज तुमको मैं भी उन सबकी तरह गुलाब दू रातों में जागते हुए देखे ख्वाब को आज़ाद करूँ अपने प्रेमी और प्रेमिकाओं को गुलाब के साथ दे यह