वापस नहीं आएगी आयशा

खुद से हार कर अपने प्यार को पाने को चाहत इंसान को तोड़कर रख देता है।पेट में ही बच्चा मर जाए, ब्लीडिंग हो, डिप्रेशन में चली जाए, सबकुछ समेटने में आयशा बिखर जाए। हर पल एक नई तकलीफ से गुजरती रही लड़की चुपचाप रही, बस इस ख्याल से कि मां बाप की इज़्ज़त पर आंच न आए। शायद बहुत टूट […]

पापा खुद से हारते जा रहे हैं 

शाम विदा ले रही थी, रात दस्तक दे रही थी,स्कूटर की आवाज कानों में गूंजने लगी,एहसास हो चुका था पापा ही होंगे,चेहरे पर शिकन साफ दिखी,मालूम था कि पूछने पर कुछ नहीं बताएंगे। चहेती बिटिया ने गुनगुने पानी के साथ चाय दी, हिम्मत करके उसने पूछना चाहा, पर जवाब नहीं मिला।मम्मी को एहसास हो चुका था, जेब टटोलनी चाही तो […]

हां मैंने भी लड़कों को रोते देखा है

लड़कों की लाइफ न बड़ी आसान होती है।लड़कों को तो हर तरफ से खुली आज़ादी हैलड़कों के अंदर तो फीलिंग्स ही नहीं होती।और लड़के लड़कियों की तरह कभी रोया नहीं करते ये सारी बाते अक्सर सबने सुनते देखा हैपर मैने लड़कों को रोते देखा है,अपनी सारी कमजोरियों को छुपाकर उन्हें मुस्कुराते देखा है।वो लड़के जो बिना वजह अकड़ जाते थे, […]

नेत्रहीन फोटोग्राफर प्रणव लाल, विवेक येलकर और भावेश पटेल

नेत्रहीन फोटोग्राफर प्रणव लाल, विवेक येलकर और भावेश पटेल मॉरीशस में एक भव्य पुराने निष्क्रिय ज्वालामुखी पर, सूरज के पार बादल की एक पट्टी एक…

मैं डरा डरा सा सहमा सहमा सा

मैं डरा डरा सा सहमा सहमा सा पहुंचा जब था उस स्कूल में, मिले थे तूम ऐ दोस्त पुराने दोस्ती एक ऐसा रिश्ता जिसे कुछ लोहे की तारे और वादों ने बाटा

वो पूछते है के ग़ालिब कौन

वो पूछते हैं कि ग़ालिब कौन कोई हमे बतलाये की हम बतलायें क्या? उर्दू और फ़ारसी भाषा के महान शायर जिन्होंने अपने जीवन में अनगिनत ग़ज़लें लिखी हमारे