शब्द संग्रहालय
विश्व कविता दिवस

विश्व कविता दिवस

कविता अभिव्यक्ति का एक सुंदर रूप है, जो हमारे भाव को शब्दों के माध्यम से लोगों तक पहुंचाने की सारथी है। विश्व प्रसिद्ध विलियम वर्ड्सवर्थ ने इसे “शक्तिशाली भावनाओं के सहज अतिप्रवाह” के रूप में उद्धृत किया। कविता में सहजता के साथ गहरी भावनाओं को व्यक्त करने का अपना तरीका है, और यह कहना गलत नहीं होगा कि कविता के बिना एक दुनिया जीवित रहना मुश्किल होगा। अब आप सभी सोच रहे होंगे कि हम कविता के बारे में क्यों बात कर रहे हैं, तो हम आपको बता दें कि 21 मार्च को यूनेस्को हर साल विश्व कविता दिवस मनाता है। जी हाँ, आपने सही पढ़ा, इस दिन का उद्देश्य सभी कवियों की रचनात्मकता को मनाना है।

1999 में, यूनेस्को ने सांस्कृतिक विविधता का समर्थन करने के लिए इस दिन को विश्व कविता दिवस के रूप में घोषित किया। वे लोगों में जागरूकता फैलाना चाहते थे कि कविता कला का एक प्राचीन रूप नहीं है, बल्कि यह अवधि में सह-अस्तित्व में है। जैसा कि दिन कोने के आसपास है, हमने कई प्रसिद्ध उद्धरण और प्रसिद्ध कवियों के अंश सूचीबद्ध किए हैं जिन्हें आपको अवश्य पढ़ना चाहिए।

रवीन्द्रनाथ ठाकुर की कविता के कुछ अंश-  

रवीन्द्रनाथ ठाकुर की कविता के कुछ अंश-
रवीन्द्रनाथ ठाकुर

पिंजरे की चिड़िया थी..

पिंजरे की चिड़िया थी सोने के पिंजरे में
                 वन कि चिड़िया थी वन में
एक दिन हुआ दोनों का सामना
             क्या था विधाता के मन में

वन की चिड़िया कहे सुन पिंजरे की चिड़िया रे
         वन में उड़ें दोनों मिलकर
पिंजरे की चिड़िया कहे वन की चिड़िया रे
            पिंजरे में रहना बड़ा सुखकर

वन की चिड़िया कहे ना…
   मैं पिंजरे में क़ैद रहूँ क्योंकर
पिंजरे की चिड़िया कहे हाय
     निकलूँ मैं कैसे पिंजरा तोड़कर

वन की चिड़िया गाए पिंजरे के बाहर बैठे
          वन के मनोहर गीत
पिंजरे की चिड़िया गाए रटाए हुए जितने
         दोहा और कविता के रीत

-रविंद्र नाथ ठाकुर

सरोजिनी नायडू द्वारा हैदराबाद के बाजरों में

सरोजिनी नायडू द्वारा हैदराबाद के बाजरों में
सरोजिनी नायडू

तुम क्या पहनती हो, ओ तु फूल-लड़कियों के
साथ अजमेर और लाल रंग के कैसेट हैं।
एक दूल्हे के भौंह के लिए मुकुट,
अपने बिस्तर की माला के लिए चैपल।
सफेद फूलों की चादरें नए-नए फूलों
को उकेरती हैं ताकि मृतकों की नींद को सुगंधित किया जा सके।

-सरोजिनी नायडू

जॉन लेनिन की कविता की कुछ पंक्तियाँ

जॉन लेनिन की कविता की कुछ पंक्तियाँ
जॉन लेनिन

”पैरों से रौंदे गये आज़ादी के फूल

आज नष्ट हो गये हैं

अँधेरे की दुनिया के स्वामी

रोशनी की दुनिया का खौफ़ देख ख़ुश हैं

मगर उस फूल के फल ने पनाह ली है

जन्म देने वाली मिट्टी में

माँ के पेट में, आँखों से ओझल गहरे रहस्य में

विचित्र उस कण ने अपने को जिला रखा है

मिट्टी उसे ताक़त देगी, मिट्टी उसे गर्मी देगी

उगेगा वह एक नये जन्म में

-जॉन लेनिन

कार्ल मार्क्स की कविता- कोई काम है ?

कार्ल मार्क्स की कविता- कोई काम है ?
कार्ल मार्क्स

जिस नौजवान को कविताएं लिखने और
बहसों में शामिल रहना था
वो आज सड़कों पर लोगों से एक सवाल
पूछता फिर रहा है
महाशय, आपके पास क्या मेरे लिए
कोई काम है ?
वो नवयुवती जिसके हक में
जिंदगी की सारी खुशियां होनी चाहिए थी
इतनी सहमी-सहमी व इतनी नाराज क्यों है ?

-कार्ल मार्क्स
अर्नेस्टो ग्वेवारा दे ल सेरना की “फ़िदेल के लिए एक गीत”
अर्नेस्टो ग्वेवारा दे ल सेरना की "फ़िदेल के लिए एक गीत"
चे ग्वेवारा

आओ चलें,
भोर के उमंग-भरे द्रष्टा,
बेतार से जुड़े उन अमानचित्रित रास्तों पर
उस हरे घड़ियाल को आज़ाद कराने
जिसे तुम इतना प्यार करते हो ।

आओ चलें,
अपने माथों से
–जिन पर छिटके हैं दुर्दम बाग़ी नक्षत्र–
अपमानों को तहस–नहस करते हुए ।

वचन देते हैं
हम विजयी होंगे या मौत का सामना करेंगे ।
जब पहले ही धमाके की गूँज से
जाग उठेगा सारा जंगल
एक क्वाँरे, दहशत-भरे, विस्मय में
तब हम होंगे वहाँ,
सौम्य अविचलित योद्धाओ,
तुम्हारे बराबर मुस्तैदी से डटे हुए ।

-चे ग्वेवारा
विश्व कविता दिवस पर महान अभिव्यक्तियों के विचार
"आपका दिमाग ही आपका उपदेशक है, यह हमेशा परिवर्तन से मुक्त रहना चाहता है, दर्द से मुक्त, जीवन और मृत्यु के झंझटों से मुक्त, लेकिन परिवर्तन ही संसार का नियम है और कोई भी मान्यता इस सच्चाई को बदल नहीं सकती।-सुकरात

तुम्हें कोई पढ़ा नहीं सकता, कोई आध्यात्मिक नहीं बना सकता। तुमको सब कुछ खुद अंदर से सीखना है। आत्मा से अच्छा कोई शिक्षक नही है।- स्वामी विवेकानंद 

हिन्दू कहें मोहि राम पियारा, तुर्क कहें रहमाना, आपस में दोउ लड़ी-लड़ी मरे, मरम न जाना कोई।-कबीर दास

बम और पिस्तौल से क्रांति नहीं आती, क्रांति की तलवार विचारों की सान पर तेज़ होती है- भगत सिंह

अंत में सब कुछ एक ढकोसला है। - चार्ली चैपलिन

विश्व हिंदी दिवस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *